Power of Mind and its Thoughts (80%) V/s Brain and its Intellect (20%)

We should understand that we can bring happiness in our life by changing our mind and thoughts. And how will we be able to move forward by understanding the mind, this value, which keeps wandering in waiting, goes from one place to another, if we use it properly then we will be able to become a successful person but we have to understand how mind works What a wonderful talent this min does, only then we will be able to use this mind in the right direction.

We should understand that if we change our thoughts then we will change our life.

What is the difference between mind(मन) and intellect(बुद्धि)

We should understand that there is a lot of difference between mind and intellect, it means to say how our mind is, we are thinking positive or thinking negative, whereas intelligence means how much knowledge we have, how many books we have read, our Intelligence will be formed but it has no effect on the mind, that is, if we are in depression, then it is the effect of our mind that our mind is in depression but our intelligence is different, our intelligence is decided on our knowledge.

हमें यह समझना चाहिए कि मन और बुद्धि में बहुत अंतर है

  • मन कहने का मतलब है कि हमारा मन कैसा है हम पॉजिटिव सोच रहे हैं या नेगेटिव सोच रहे हैं अगर हम डिप्रेशन में हैं तो यह हमारा मन का प्रभाव है
  • जबकि बुद्धि का मतलब होता है हमारे पास नॉलेज कितना है हमने कितनी किताबें पढ़ी है उससे हमारी बुद्धि बनेगी

Mind thought and its Energy (मन विचार और उसके एनर्जी)

We should understand very well that our every thought generates energy.

हमें यह भली-भांति समझ लेना चाहिए कि हमारा हर एक विचार एनर्जी जनरेट करती है

When we think negatively, negative energy from whole universe is start sintering in us. So we always be positive so that always positive energy enters into us.

जब हम नकारात्मक सोचते हैं, तो पूरे ब्रह्मांड की नकारात्मक ऊर्जा हमारे अंदर पाप करने लगती है। इसलिए हम हमेशा सकारात्मक रहें ताकि हमेशा सकारात्मक ऊर्जा हमारे अंदर प्रवेश करे।

Problems are nothing but creation of weak mind

समस्याएं और कुछ नहीं बल्कि कमजोर दिमाग का निर्माण है

We humans are intelligent beings, if we work hard to get someone with perseverance, then surely we can get it. It takes to get a thing and then we get it, we can understand in such a way that what we want to get, we can also write and paste it in our walls and look at it again and again until we get it. literally the river of the whole universe will take us to get that thing and we will get.

हम मनुष्य बुद्धिमान प्राणी हैं अगर हम दृढ़ता के साथ किसी को पाने की तथा उसे पाने के लिए मेहनत करते हैं तो निश्चित रूप से हम उसे पा सकते हैं अगर हम वास्तव में किसी चीज को पाने के लिए सोचे तो पूरे पूरे ब्रह्मांड की एनर्जी हमें वह चीज दिलाने में लग जाती है और फिर हम उसे पा लेते हैं इस प्रकार से समझ सकते हैं जिसे हम पाना चाहते हैं उसे हम अपने दीवारों में भी लिख कर चिपका सकते हैं और उससे हम बार-बार देखें जब तक वह हमें मिल नहीं जाते निश्चित रूप से पूरे ब्रह्मांड की नदी हमें वह चीज दिलाने में लग जाएगी और हम को पा लेंगे

Problems are nothing but creation of weak mind so it’s important for all of us to make our mind so strong so that it deal with any problem in an easy way.

समस्याएं और कुछ नहीं बल्कि कमजोर दिमाग का निर्माण है इसलिए हम सभी के लिए जरूरी है कि हम अपने दिमाग को इतना मजबूत बनाएं कि वह किसी भी समस्या से आसानी से निपट सके।

Type of mind (मन के प्रकार)

Tempestuous States (उपद्रव मचाने वाले स्वरूप )

1. Conscious Mind (चेतन मन) – all of the things that you are currently aware of and thinking about
2. Subconscious Mind (अवचेतन मन) – सोने के 10 मिनट पहले और जगने के 10 मिनट बाद – like “hard drive” of mind
3. Unconscious Mind (अचेतन मन) – No Conscious awareness or control

Power Centres (शक्ति के केंद्र)

4. Super Conscious Mind (सुपर कॉन्शियस माइंड) – Children Mind- Successful People Mind – Only P
5. Collective Conscious Mind (सामूहिक चेतन मन) 
6. Spontaneous Mind (सहज मन) – मूड क्या कर रहा
7. Ultimate Mind (परम मन) – पर्दा जिस पर सारी कहानी चलती है

Content

1.Introduction (परिचय)
2. Existence (अस्तित्व)
3. Shenanigans (उपद्रव)
4. Composition (संरचना)
5. Power Centre’s (शक्ति के केंद्र)
6. Correlation with Other (मेरे संबंध)
7. Repercussion of Suppressing Me (मेरे दबाव के दुष्परिणाम )
8. Remedies to Dispel Sorrows and Worries (दुख और चिंता दूर करने के उपाय)
9. The Present (वर्तमान) – वर्तमान में जीना
10. Personality (व्यक्तित्व) – इनर पर्सनालिटी का विकास
11. Complex (हीनता) – हीनता से बचना
12. Involvement (लगाओ) – इंवॉल्वमेंट और एक्सपेक्टेशन कम रखना
13. Expectation (अपेक्षा) – इंवॉल्वमेंट और एक्सपेक्टेशन कम रखना
14. The Key to Success (सफलता के सार सूत्र)
15. Intelligence (प्रज्ञा बढ़ाएं)
16. Creativity (रचनात्मकता बढ़ाएं)
17. Concentration (एकाग्रता बढ़ाएं)
18. Curtail Ambition (महत्वाकांक्षा घटाएं)
19. Self Confidence (आत्मविश्वास बढ़ाएं )
20. Contentment (संतोष)
21. The Summary (सार )

10 Major Powers of Mind and Thought and Their Use in Human Life

The understanding of the power of Mind and it’s thought and it’s correlation with the energy. Really mind and it’s thought is much more powerful then brain and it’s intellect. When we read, learn and study new things, it increases our brain and it’s intellect, but what about the mind? which is much more powerful then brain and it’s intellect. If the power of the mind is used properly, it solve the problem of any human life. And there is lot of process to understand and use the power of mind and it’s toughly like

1.  Power of Subconscious Mind 10 Min Before and After Sleep – Letter to God at the time of sleep – Pray to god in the Morning

The mind is very powerful, psychology also understands the powers of the mind and it is necessary for everyone to use this powerful energy of the mind with the help of God who is almighty, we should do that 10 minutes before sleep and 10 minutes after sleeping. By doing yoga to the subconscious energy and by writing a short letter to respect and tell them to remove all our troubles, help us to overcome our problems and salute to God and thank God that he has brought happiness in our life. Keep peace and love and in this way we will use all of our mind, whatever we do before 10 minutes of sleep and 10 minutes after sleeping, we remember for a long time.

मन बहुत पावरफुल है मनोविज्ञान भी मन की शक्तियों को समझता है और यह भगवान जो सर्वशक्तिमान है उनकी मदद से मन के इस पावरफुल एनर्जी के उपयोग करना सभी के लिए जरूरी है हम यह चाहिए कि हम सोने के 10 min पहले और सोने के 10 मिनट बाद subconscious एनर्जी को योग करने से हैं और सम्मान को एक छोटा पत्र लिखकर अपने सारे कष्टों को दूर करने के लिए उन्हें बता सकते हैं हमारी प्रॉब्लम को दूर करने में मदद करें और भगवान को नमस्कार करें और भगवान को धन्यवाद दें कि उन्होंने हमारे जीवन में सुख शांति और प्यार बनाए रखें और इस प्रकार से हम अपने सब का माइंड को उपयोग में लाएंगे हम सोने के पहले 10 मिनट और सोने के 10 मिनट बाद जो भी चीजों को रीजन करते हैं वह हमें लंबे समय तक याद रहता है

2. Charge the Water then Drink it (पानी को चार्ज करके पीना)

As we all know that there is only 70 percent water on this earth and our body also has 70 percent water, if we learn to use the energy of water properly then it can prove to be very useful for our life. Learn to love and use the right energy of water, before we drink water, we say what we want from water 7 times in it and then get that water with goodwill with a new request that our body will definitely be beneficial.

जैसा कि हम सभी जानते हैं इस धरती पर 70 परसेंट पानी ही है और हमारे शरीर में भी 70 परसेंट पानी हैं अगर हम पानी के एनर्जी को सही तरीके से उपयोग करना सीख जाएंगे तो यह हमारे जीवन के लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकता है हम पानी से प्यार करना सीखे और हम पानी के सही इनर्जी को उपयोग करें हम पानी को पीने से पहले उस में 7 बार जो चीजें हम पानी से चाह रहे हैं उसे बोली और फिर उस पानी को सद्भावना के साथ एक नई अर्जी के साथ मिले वह हमारे शरीर में निश्चित रूप से फायदेमंद होगा

3. 10 Min Practice for utilize the power of hand energy and its vibration for curing human body.

Every human is an energy, an aura of energy in the body of a human being that we learn to give energy to each person’s own energy with our hands, let the hands feel more energy among themselves, after 3 to 7 times the hand. We put on the product of our body where we need rest, definitely after doing this practice of 10 minutes, that energy of our hand will go there and it will give a lot of rest to that part in our body.

प्रत्येक मनुष्य एक एनर्जी एक मनुष्य के शरीर में एनर्जी की एक आभा है जो कि प्रत्येक मनुष्य की अपनी एनर्जी हम हाथ से एनर्जी देना सीखे हाथ कोमले आपस में और भी एनर्जी को फील करें 3 से 7 बार हाथ को मरने के बाद वह भवरेश्वर जी को हम अपनी बॉडी के उत्पाद पर डालें जहां पर हमें आराम चाहिए निश्चित रूप से 10 मिनट के इस प्रेक्टिस करने के बाद हमारे हाथ की वह एनर्जी वहां पर चली जाएगी और इससे हमारे शरीर में वह अंग पर बहुत आराम मिलेगा

4. Techniques for talking to our body part and love it.

By talking to the body part our body wants to talk to us but we are not able to talk to our body part we are not able to love our body part that’s why we should talk to our body part love it The way a mother pats her children, when she puts her body’s hand on the child’s body, the child sleeps happily because there is energy, there is an energy in love.

शरीर के अंग से बात करने से हमारे शरीर के हमसे बात करना चाहती हैं लेकिन हम अपने शरीर के अंग से बात नहीं कर पाते हम अपने शरीर के अंग से प्यार नहीं कर पाते इसीलिए हमें चाहिए कि हमें अपने शरीर के अंग से बात करना उससे प्यार देना जिस प्रकार से मां अपने बच्चों को थप थप आती है अपने शरीर के हाथ को जब बच्चों के शरीर पर रखती है तो बच्चा खुश होकर सो जाता है क्योंकि एनर्जी है प्यार में एक इनर्जी है

5. There is creative energy in our every resolution, by smiling our body becomes fresh and become healthy.

We should understand that there is a creative energy in every one of our thoughts. Always look at our body parts with a smile, we should look with happiness, due to which our body parts also become happy, they start smiling, they are also filled with freshness by being happy like good flowers.

हम यह समझना चाहिए कि हमारे हर एक संकल्प में एक क्रिएटिव एनर्जी है हम जब पॉजिटिव सोचते हैं तो सारे ब्रह्मांड की पॉजिटिव एनर्जी हमारे अंदर आने लगती है और जब हम नेगेटिव सोचते हैं तो सारे ब्रह्मांड की नेगेटिव एनर्जी हमारे अंदर आने लगती है इसलिए हमें हर हमेशा अपने शरीर के अंगों को मुस्कुरा कर देखना चाहिए खुशी पूर्वक देखना चाहिए जिससे हमारे शरीर के अंग भी खुश हो जाते हैं मुस्कुराने लगते हैं अच्छी फूलों की तरह खुश होकर वह भी तरोताजा से भर जाते हैं

6. Positive resolve and belief that everything will be fine with us

Imagination is power and recognize this power, always resolve to give confidence that everything will be good with us, surely everything will be good with us, if we really imagine the application of this universe then we will understand that we When we think good, all the energy of the universe gets involved in doing good for us.

कल्पना शक्ति है और इस शक्ति को पहचानिए हमेशा संकल्प करें आत्मविश्वास जगाएं कि हमारे साथ सब कुछ अच्छा होगा निश्चित रूप से हमारे साथ हर चीज अच्छा होने लगेगा अगर हम वास्तव में इस ब्रह्मांड की अर्जी को कल्पना करें तो हमें यह समझ में आ जाएगी कि हम जब अच्छा सोचते हैं तो ब्रह्मांड की सारी एनर्जी हमारे लिए अच्छा करने में जुट जाती है

7. Make a huge heart never keep anything inside you.

We should always make our heart big, we should never keep small things in our heart that means we should never become of holding nature because if we keep anything inside us, it will trouble us and it will it will be our loss.

हमें हर हमेशा अपने दिल को विशाल बनाना चाहिए हम कभी भी छोटे-छोटे चीजों को अपने दिल में ना रखें अर्थात हमें होल्डिंग नेचर का कभी भी नहीं बनना चाहिए क्योंकि अगर हम किसी भी चीज को अपने अंदर रखेंगे तो वह हमें ही परेशान करेगी और उससे हमारा ही नुकसान होगा

8. Don’t make anything big, make everything small and end it

We should understand that no matter is big, we make it big by thinking, that is why we should pay attention at all times that always make things small and small and know the art of ending them by making them small. By minimizing it, our mind becomes empty and we are able to do new things.

हमें यह समझना चाहिए कि कोई भी बात बड़ी नहीं होती हम सोच सोच कर उसे बड़ा कर देते हैं इसीलिए हमें यह प्रत्येक समय ध्यान देना चाहिए कि बातों को हर हमेशा छोटा से छोटा करें और उसे छोटा कर उसे समाप्त करने की कला जाने बड़ी बात को छोटा करके उसे समाप्त करने से हमारे दिमाग खाली हो जाते हैं और हम नई चीजों को कर पाते हैं

9. Learn to appease other.

When others help us, they think it is good for us, then they definitely appreciate them so that they feel peace in their heart, they understand themselves better and they get a new energy because there is an energy in appreciation. If we learn to appraise someone, then they become our own.

जब दूसरे हमारे मदद करते हैं यह हमारे लिए अच्छा सोचते हैं तो वह उन्हें निश्चित रूप से उनकी सराहना करें ताकि उनके दिल में शांति का अनुभव होता है वह अच्छा अपने आप को समझते हैं और उन्हें एक नई एनर्जी मिलती है क्योंकि सराहना में एक इनर्जी है अगर हम किसी को अप्रिशिएट करने सीख जाते हैं तो वह हमारे अपने हो जाते हैं

10. Understand the power of gratitude which makes sense of our past, bring peace for today and creates a vision for tomorrow.

We should understand that gratitude is such a flower that comes out of the soul, if we learn to express gratitude to someone, then he remembers this gratitude in his life. Gratitude is the best and best way to make our life easy and simple.

हमें यह समझना चाहिए कि कृतज्ञता एक ऐसी फूल है जो कि आत्मा से निकलती है हम अगर किसी को आभार व्यक्त करना सीख जाते हैं तो वह हमारी इस आभार को अपने जीवन में याद रखते हैं कृतज्ञता अपने जीवन को सहज और सरल बनाने का सबसे अच्छा और सुगम तरीका है

Leave a Comment

error: